भारतीय रन मशीन – विराट कोहली का सफ़र भारतीय रन मशीन – विराट कोहली का सफ़र

भारतीय रन मशीन – विराट कोहली का सफ़र

SpecialSports September 5, 2016 24x7daily

'आरेंज कैप'1 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट'1 'मैन ऑफ द सीरीज़'1 अंडर-19 विश्व कप1 अर्जुन पुरस्कार1 अर्धशतकों1 आईपीएल31 आईपीएल-20161 आईसीसी12 आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी1 आईसीसी विश्व रैंकिंग1 इंग्लैंड10 इंडिया अंडर-191 उप-कप्तान1 एकदिवसीय मैच3 एकदिवसीय सीरीज़1 कपिल देव2 कप्तान11 कर्नाटक7 क्रिकेट के भगवान1 घरेलू टेस्ट1 टी-2043 टी-20 अंर्तराष्ट्रीय1 टेस्ट अंर्तराष्ट्रीय1 दिल्ली65 दोहरा शतक1 द्रोणाचार्य पुरस्कार2 पॉली उमरीगर ट्रॉफी1 ब्रायन लारा1 भारत224 मलेशिया8 मास्टर-ब्लास्टर1 मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर1 युवराज सिंह6 रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु1 लिटिल मास्टर1 लिटिल मास्टर सुनिल गावस्कर1 विराट कोहली19 विश्व एकादश1 विश्व क्रिकेट1 विश्व विजेता1 वेस्टइंडीज22 शतक2 श्रीलंका29 सचिन तेंदुलकर4 सलामी बल्लेबाज1
भारत में क्रिकेट ने कब से लोगों को अपना दीवाना बनाया है इसका जवाब तो किसी के भी पास नहीं है। लेकिन साल ‘1983’... भारतीय रन मशीन – विराट कोहली का सफ़र

भारत में क्रिकेट ने कब से लोगों को अपना दीवाना बनाया है इसका जवाब तो किसी के भी पास नहीं है। लेकिन साल ‘1983’ में जब भारतीय क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड में विश्व विजेता टीम वेस्टइडीज़ को हरा कर ‘विश्व कप’ जीता तब से क्रिकेट ने भारतीयों के दिल में अलग जगह बना ली और इसके साथ ही क्रिकेट के खिलाड़ियों का भी ‘स्वर्णकाल’ शुरु हो गया।

सबसे पहले कपिल देव, उसके बाद लिटिल मास्टर सुनिल गावस्कर, फिर क्रिकेट के भगवान मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर, और अब विराट कोहली भारतीय क्रिकेट के सबसे पसंदीदा खिलाड़ी है। भारतीय टीम के टेस्ट मैचों के कप्तान और भारतीय रन मशीन विराट के प्रशंसक आपको हर क्रिकेट प्रेमी के घर ज़रुर मिल जाएंगे।

during the ICC WT20 India Group 2 match between India and Australia at I.S. Bindra Stadium on March 27, 2016 in Mohali, India.

विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट में ही नहीं बल्कि विश्व क्रिकेट में भी अपने बेहतरीन प्रदर्शन से तहलका मचा रखा है। हर एक मैच के साथ जिस तरह विराट कोहली का प्रदर्शन निखरता जा रहा है उसी तरह विराट कोहली के प्रशंसकों की संख्या भी दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। 5 नवम्बर 1988 में दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में पैदा हुए विराट मौजूदा समय में विश्व के और भारत के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों की लिस्ट में नंबर 1 पर हैं। 

vi

विराट के सफ़रनामे का आरंभ साल 2002-03 में हुआ था तब उन्हें पॉली उमरीगर ट्रॉफी के दौरान दिल्ली का अंडर-15 में चुना गया था उस दिन से विराट ने कभी पीछे मुड़कर नहीें देखा। पॉली उमरीगर ट्रॉफी के दौरान विराट ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से चयनकर्ता के चयन को सही साबित किया और सबसे ज़्यादा रन बनाए। साल 2004 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी में विराट ने अपनी 251* की नाबाद पारी से घरेलू क्रिकेट में छा गए।

viart-under-17_1456402612

साल 2006 में विराट को इंग्लैंड दौर के लिए इंडिया की अंडर-19 में चुना गया, जहां पर इंडिया ने उनके अच्छे प्रदर्शन की बदौलत टेस्ट और एकदिवसीय सीरीज़ को जीतकर अपने नाम किया। साल 2006 में दिल्ली और कर्नाटक के मैच के दौरान पिता की मृत्यु हो जाने पर भी विराट ने उस मैच में 90 रनों की शानदार पारी खेली और फिर वहीं से सीधे अपने पिता के अंतिम संस्कार में पंहुचे थे।

under-19-career_1456405255

मार्च 2006 में विराट कोहली को मलेशिया में खेले गए विश्व कप के लिए इंडिया अंडर-19 टीम का कप्तान बनाया गया और विश्व कप में विराट के बल्ले और गेंद से अच्छे प्रदर्शन की बदौलत भारत अंडर-19 विश्व कप का विजेता बना।

under19-career_1456403067

साल 2007 में टी-20 आईपीएल के पहले संस्करण में विराट कोहली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की फ्रेंचाइजी से जुड़े। विराट अब रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु टीम के कप्तान है।

आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी 2008 के लिए इंडिया टीम की संभावित 30 में जब विराट कोहली का नाम आया तब विराट की खुशी का ठिकाना नहीं था लेकिन चैम्पियन ट्रॉफी के स्थागित हो जाने के बाद विराट को श्रीलंका के खिलाफ अंर्तराष्ट्रीय टीम में पहली बार सलामी बल्लेबाज के रुप में बुलाया गया। इसके बाद से कई बार विराट को इंडिया टीम में शामिल किया गया लेकिन विराट को खेलने का मौका कम ही मिल सका। फिर साल 2009 आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी में विराट को चोटिल युवराज सिंह की जगह पर टीम में खेलने का मौका मिला।

Virat+Kohli+India+v+West+Indies+ICC+Champions+HiXQ5hsN2xpl

साल 2010 में विराट ने एक साल में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड हासिल किया और साल 2011 में अपने बेहतरीन बल्लेबाजी प्रदर्शन की बदौलत विराट आईसीसी विश्व रैंकिंग में दूसरा स्थान हासिल करने में कामयाब रहे थे।

198231.3

एशिया कप -2012 में विराट को टीम इंडिया का उप-कप्तान बनाया गया और एशिया कप में ही कोहली ने 183 रनों की शानदार पारी खेलते हुए ब्रायन लारा के 156 रनों के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया था। साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज़ में विराट ने 56.80 के औसत से रन बनाकर टेस्ट मैचों में भी अपनी उपयोगिता साबित की और साल 2014 में  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विदेशी दौरे के लिए विराट को टेस्ट मैचों का कप्तान बना दिया गया।

kohli-vs-austarlia_1456404973

विराट कोहली ने टी-20 अंर्तराष्ट्रीय मैचों में 132.99 के स्ट्राइक रेट से 16 अर्धशतकों साथ कुल 1658 रन बनाए हैं, विराट को 2016 के ‘टी-20 विश्व कप’ में ‘प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट’ घोषित किया गया।

v t-20

जबकि 171 एकदिवसीय मैचों में विराट के नाम पर 25 शतक और 36 अर्धशतकों साथ कुल 7,212 रन दर्ज हैं और तकरीबन 21 बार ‘मैन ऑफ द मैच’ के खिताब से नवाजे जा चुके है। विराट ने टेस्ट अंर्तराष्ट्रीय के 45 मैचों में 12 शतक, 12 अर्धशतक और एक दोहरे शतक के साथ कुल 3,245 रन बनाए है।

2016 के आईपीएल के संस्करण में विराट को ‘आरेंज कैप’ और ‘मैन ऑफ द सीरीज़’ चुना गया था। आईपीएल 2016 के संस्करण में विराट कोहली ने सीरीज़ में सर्वाधिक 973 रन बनाए थे। आईसीसी ने 2016 में विराट कोहली को टी-20 विश्व एकादश का कप्तान नियुक्त किया है।

kohli-arjuna_1462941393

विराट कोहली को भारत सरकार द्वारा साल 2013 में अर्जुन पुरस्कार और साल 2016 में द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।